भगवान कृष्ण के बारे में रोचक बातें जो शायद आप नहीं जानते (lesser known and interesting things about God Krishna maybe you don’t know)

krishna-krishna

हरे कृष्ण हरे कृष्ण, कृष्ण कृष्ण हरे हरे
हरे राम हरे राम, राम राम हरे हरे॥

कृष्ण भगवान विष्णु के 8वें अवतार माने जाते हैं। इनको अनेकों नामो से जाना जाता है (भगवान् श्री कृष्ण जी के 51 नाम और उन के अर्थ) जैसे कन्हैया, श्याम, गोपाल, केशव, द्वारकेश या द्वारकाधीश, वासुदेव आदि। इसका जन्म द्वापरयुग में अष्टमी तिथि के दिन हुआ था। “कृष्ण” मूलतः एक संस्कृत शब्द है, जो “काला”, “अंधेरा” या “गहरा नीला” का समानार्थी है। मैं आपको कृष्ण भगवान कुछ ऐसी बातें और कहानियाँ बताऊंगा जो शायद आपने सुनी या पढ़ी न हो। Continue reading

खाना पकाने के तेल के स्मोक पॉइंट का क्या अर्थ है और यह क्यों महत्वपूर्ण है (What is the meaning of smoke point of cooking oil and why it’s important?)

जब आप खाना पकाने के तेल को खरीदते है तो इस तरह के बहुत से सवाल आपके दिमाग में आते होंगे जैसे :

  • खाना पकाने के तेल का स्मोक पॉइंट (smoke point) का क्या मतलब होता है?
  • कौन सा तेल सही है?
  • तेल को एक बार प्रयोग करने के बाद बचा हुआ तेल फिर से प्रयोग करना चाहिए या नहीं ?
  • रिफाइंड तेल खाना पकाने के लिए सही है या नहीं?

Continue reading

बाजार की मंदी और मुरझाती भारतीय अर्थव्यवस्था (Market slowdown and indian economy crisis)

economy crisis

क्या देश में मंदी आने वाली है? क्या भारत की अर्थव्यवस्था में गिरावट है ? क्या आज के माहोल में एक अच्छी नौकरी या एक नया व्यापार शुरू करना मुश्किल है? क्या विदेशी निवेशक भारत में पैसे लगाने से कतरा रहें है? क्या भारत के बड़े व्यापारी भारत में व्यापार न कर के और देशो में अपना व्यापार बढ़ाने की सोच रहे है? क्या भारत में बेरोजगारी अपनी चरम सीमा पर है? देश के बड़े उद्योग जिन से देश की अर्थव्यवस्था पर बहुत प्रभाव पड़ता है क्या वो नुकसान में है ?

जी हाँ! ऊपर लिखीं सारे तत्य पूरी तरह से सच है। देश में आज जो माहोल है उसमें इन सब बातों पर आम जनता है ध्यान ही नहीं है। Continue reading

धारा 370 और जम्‍मू-कश्‍मीर (Article 370 and Jammu & Kashmir)

Article 370 and Jammu & Kashmir

अपने साहसिक निर्णय (Bold decisions) के लिए मशहूर मोदी सरकार ने August 5th, 2019 एक और ऐतिहासिक फैसला लिया। सरकार ने राज्यसभा में राष्ट्रपति की मंजूरी के साथ जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने की अधिसूचना जारी की और राज्यसभा में इससे जुड़ा संकल्प भी पेश किया।

आर्टिकल 370 की बात करे तो इसके तहत जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा दिया गया है। यह आर्टिकल कश्मीर के लोगों को बहुत सुविधाएँ देता है जो कि भारत के अन्य नागरिकों को नहीं मिलतीं हैं। इस आर्टिकल 370 के कारण केंद्र सरकार को जम्मू-कश्मीर के बारे में रक्षा, विदेश मामले और संचार के विषय में कानून बनाने का ही अधिकार है। इस विशेष प्रावधान के कारण ही 1956 में जम्मू-कश्मीर का अलग संविधान लागू किया गया। इसी धारा 370 में आर्टिकल 35 A भी है इनके अनुसार भारत के अन्य राज्यों के लोग जम्मू-कश्मीर में जमीन नहीं खरीद सकते और न ही कोई व्यापारिक संस्थान खोल सकतें है। कश्मीर के लोगों को दो प्रकार की नागरिकता मिली हुई है, एक कश्मीर की और दूसरी भारत की। यदि कोई कश्मीरी महिला किसी भारतीय से शादी कर लेती है तो उसकी कश्मीरी नागरिकता ख़त्म हो जाती है लेकिन यदि वह किसी पाकिस्तानी से शादी कर लेती है तो उसकी कश्मीरी नागरिकता पर कोई फर्क नहीं पड़ता है। वहीँ यदि कोई पाकिस्तानी लड़का किसी कश्मीरी लड़की से शादी कर लेता है तो उसको भारतीय नागरिकता भी मिल जाती है। जम्मू-कश्मीर के नागरिकों के लिए महिलाओं की अस्मिता, गायों की रक्षा और देश के झंडे इत्यादि का सम्मान करना जरूरी नहीं है। Continue reading

आपकी मानसिकता आपकी असफलताओं का कारण है(Your mindset is the reason for your failures?)

is your mindset is the reason for your failures

“A man cannot directly choose his circumstances, but he can choose his thoughts, and so indirectly, yet surely, shape his circumstances.”
― James Allen

अगर आप अपने चारों तरफ देखें तो हर कोई जिंदगी में कुछ न कुछ पाने के लिए कठोर परिश्रम कर रहा है। परन्तु कुछ लोग कामयाब हो जाते है कुछ नहीं। अगर हम कामयाब ना होने के कारणों में भाग्य (luck) की बात न करें तो एक कारण ओर है जिसकी वजह से आप हार जाते है। और वो है आपका दिमाग, आपकी सोच(Thinking), आपकी मानसिकता(Mindset)। आज मैं आपको कुछ बातें बताऊंगा जिनकी वजह से लोग जल्दी से हार मान जाते है और आपने लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर पाते है। Continue reading

क्या आपका नमक आपके लिए सही है ? (Is your cooking salt is right for you?)

is your cooking salt is right for you

नमक (salt) हमारे खाने का एक मुख्य घटक है और हमारे शरीर के लिए भी ये एक बहुत जरुरी तत्व है। नमक की हमारे शरीर को क्यों जरुरत है ये लगभग सभी को पता है तो समझने की बात ये नहीं है कि नमक की जरुरत क्या है समझने की बात ये है कि क्या आपका नमक जो आप अभी प्रयोग करते है आपके लिए सही है? अगर हम बात करे कि कितनी तरह के नमक है तो नमक में भी लगभग 10 से 12 प्रकार है। किन्तु हम सिर्फ उन नमक के बारे में बताएँगे जो हमारे देश में सामान्यतः इस्तेमाल में लिए जाते है और जो आसानी से बाजार में मिल जाते है।
मेरा इस लेख़ का लिखने का मुख्य उद्देश्य हमारे घरो में सबसे ज्यादा प्रयोग में आने वाले नमक के बारे में आपको बताना है। आपको पता होना चाहिए कि हम जाने अनजाने में क्या गलती कर रहे है। Continue reading

दिलचस्प मनोवैज्ञानिक तथ्य जिन्हे जान कर आप हो जायेंगे और भी बुद्धिमान

Psychological facts

हमारा दिमाग कैसे काम करता है इस रहस्य को जितना जानो उतना ही कम लगता है। शोध-कर्ताओं ने इस विषय पर बहुत शोध की है और बहुत से रोचक व दिलचस्प मनोवैज्ञानिक तथ्य (Psychological facts)सामने आये जिन्हे जान कर आप अपने को और भी बुद्धिमान बना सकते है। अगर ये सभी तथ्य आपको पता हो तो आप जान सकते है कि सामने वाले का जो व्यवहार है या उसके दिल और दिमाग में क्या चल रहा है। Continue reading

कुछ महत्वपूर्ण बातें जो मैंने नौकरी छोड़ने के बाद सीखी (Most Important things I learned Since I left my Perfect Job)

things I learned Since I left my Perfect Job

जिस पेशे को आप कर रहे है उसमें आपको सफलता ही मिलेगी इस बात क़ी कोई गारंटी नहीं है। दुसरे शब्दों में कहें तो सफल करियर के लिए कोई फार्मूला नहीं है। हो सकता है आपकी सबसे सुरक्षित और एक अच्छी कंपनी की नौकरी आर्थिक संकट या बाजार में मंदी होने के दौरान छूट जाए। ग़ैर-सरकारी कंपनी में नौकरी का सुरक्षित होना एक भ्रम है। जिस कंपनी से मैंने नौकरी छोड़ी थी उसमें से एक नयी कंपनी बनी थी और कुछ स्टाफ को नयी कंपनी में लिया गया था। दो-तीन साल तक कर्मचारियों की अच्छी सैलरी बढ़ी तथा कंपनी को अच्छा पूंजी निवेश भी मिला था। लेकिन बिज़नेस में बहुत लाभ न मिलने के कारण अब वो कंपनी बंद हो रही है और उसमें काम करने वाले कर्मचारियों को जाने के लिए बोल दिया गया है।

नौकरी का सुरक्षित होना कंपनी में आपके अच्छे प्रदर्शन, आपकी रेटिंग या आपकी कंपनी कितनी बड़ी है, इन सब पर निर्भर नहीं है ये आपके अपने कौशल (skills) पर निर्भर है। आप उस व्यवसाय में ज़रूरत के अनुसार अपने कौशल को अपडेट करते रहेंगे तो आप सुरक्षित नौकरी कर सकते है क्योकि अब आप कंपनी पर निर्भर नहीं है आप के पास वो कौशल है कि आप कभी भी किसी भी कंपनी से नौकरी छोड़कर दूसरी कंपनी में जा सकते है। Continue reading

श्री कृष्ण चालीसा – SRI KRISHAN CHALISA

krishna-krishna

श्री कृष्ण चालीसा – SRI KRISHAN CHALISA

||दोहा||
बंशी शोभित कर मधुर, नील जलद तन श्याम।
अरुण अधर जनु बिम्ब फल, नयन कमल अभिराम॥१
पूर्ण इन्द्र, अरविन्द मुख, पीताम्बर शुभ साज।
जय मनमोहन मदन छवि, कृष्णचन्द्र महाराज॥२ Continue reading

सुखी जीवन जीने के रहस्य (The Secrets To Living A Happier Life)

happiness

सुखी व आनंदमय जीवन हर इंसान चाहता है शायद ही इस दुनियाँ में कोई इंसान हो जो दुखी रहना चाहता हो परन्तु हमारे जीवन में बहुत कुछ होता है जिन पर हमारा नियंत्रण नहीं होता और इसके कारण जीवन में दुःख या अशांति हो जाती है। सुखी जीवन जीने के रहस्यों की कोई एक किताब नहीं है कि उसको पढ़ लो और सीख लो। ये तो आपके ही नियंत्रण में है इसके लिए तो बस आपको अपनी दैनिक गतिविधियो और अपनी सोच में कुछ-कुछ बदलाव करने की जरुरत है।

सुख या खुशी (HAPPINESS) हासिल करने योग्य लक्ष्य नहीं है यह आपके द्वारा किए कार्यो से आपके मन को मिली संतुष्टि है आपके पास जितनी अधिक संतुष्टि होगी उतनी अधिक खुशी होगी उतना ही आप अपने जीवन में सुखी होंगे।

हर परिस्थितियों में भी खुश रहने वाले लोगो से उनके खुश रहने के राज को समझ कर मैंने अपने खुद के जीने और सोचने के तरीको में कुछ बदलाव किये और पाया कि कुछ तरीके है जिनको अगर आप अनुसरण करें तो आप भी अपने जीवन को ज्यादा से ज्यादा खुशी के साथ जी सकते है। Continue reading