आपकी मानसिकता आपकी असफलताओं का कारण है(Your mindset is the reason for your failures?)

is your mindset is the reason for your failures

“A man cannot directly choose his circumstances, but he can choose his thoughts, and so indirectly, yet surely, shape his circumstances.”
― James Allen

अगर आप अपने चारों तरफ देखें तो हर कोई जिंदगी में कुछ न कुछ पाने के लिए कठोर परिश्रम कर रहा है। परन्तु कुछ लोग कामयाब हो जाते है कुछ नहीं। अगर हम कामयाब ना होने के कारणों में भाग्य (luck) की बात न करें तो एक कारण ओर है जिसकी वजह से आप हार जाते है। और वो है आपका दिमाग, आपकी सोच(Thinking), आपकी मानसिकता(Mindset)। आज मैं आपको कुछ बातें बताऊंगा जिनकी वजह से लोग जल्दी से हार मान जाते है और आपने लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर पाते है। Continue reading

क्या आपका नमक आपके लिए सही है ? (Is your cooking salt is right for you?)

is your cooking salt is right for you

नमक (salt) हमारे खाने का एक मुख्य घटक है और हमारे शरीर के लिए भी ये एक बहुत जरुरी तत्व है। नमक की हमारे शरीर को क्यों जरुरत है ये लगभग सभी को पता है तो समझने की बात ये नहीं है कि नमक की जरुरत क्या है समझने की बात ये है कि क्या आपका नमक जो आप अभी प्रयोग करते है आपके लिए सही है? अगर हम बात करे कि कितनी तरह के नमक है तो नमक में भी लगभग 10 से 12 प्रकार है। किन्तु हम सिर्फ उन नमक के बारे में बताएँगे जो हमारे देश में सामान्यतः इस्तेमाल में लिए जाते है और जो आसानी से बाजार में मिल जाते है।
मेरा इस लेख़ का लिखने का मुख्य उद्देश्य हमारे घरो में सबसे ज्यादा प्रयोग में आने वाले नमक के बारे में आपको बताना है। आपको पता होना चाहिए कि हम जाने अनजाने में क्या गलती कर रहे है। Continue reading

सुखी जीवन जीने के रहस्य (The Secrets To Living A Happier Life)

happiness

सुखी व आनंदमय जीवन हर इंसान चाहता है शायद ही इस दुनियाँ में कोई इंसान हो जो दुखी रहना चाहता हो परन्तु हमारे जीवन में बहुत कुछ होता है जिन पर हमारा नियंत्रण नहीं होता और इसके कारण जीवन में दुःख या अशांति हो जाती है। सुखी जीवन जीने के रहस्यों की कोई एक किताब नहीं है कि उसको पढ़ लो और सीख लो। ये तो आपके ही नियंत्रण में है इसके लिए तो बस आपको अपनी दैनिक गतिविधियो और अपनी सोच में कुछ-कुछ बदलाव करने की जरुरत है।

सुख या खुशी (HAPPINESS) हासिल करने योग्य लक्ष्य नहीं है यह आपके द्वारा किए कार्यो से आपके मन को मिली संतुष्टि है आपके पास जितनी अधिक संतुष्टि होगी उतनी अधिक खुशी होगी उतना ही आप अपने जीवन में सुखी होंगे।

हर परिस्थितियों में भी खुश रहने वाले लोगो से उनके खुश रहने के राज को समझ कर मैंने अपने खुद के जीने और सोचने के तरीको में कुछ बदलाव किये और पाया कि कुछ तरीके है जिनको अगर आप अनुसरण करें तो आप भी अपने जीवन को ज्यादा से ज्यादा खुशी के साथ जी सकते है। Continue reading

क्या आर ओ (RO)और बोतलबंद पानी सेहत के लिए सही है ? (Is bottled Water and RO Purified Water good for health?)

Is bottled Water and RO Purified Water good for health

जल ही जीवन है- जल के बिना जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है पर आज इसमें एक नयी थ्योरी जुड़ गयी है कि पीने वाला पानी पीने लायक है भी या नहीं। औद्योगिक क्रांति से हमने बहुत तरक्की की है लेकिन इसके चलते हमने बहुत कुछ ऐसा बनाया है जिसने हमारे भूजल को दुषित कर दिया है। पहले भारत में लोग नदियों का पानी इस्तेमाल में लेते थे और आज भूजल को भी प्रयोग में लेने से डरते है। जाने कैसे-कैसे रसायन, दुषित पदार्थ पानी में मिल गए है कि उस पानी को पीने से रोग लग रहे है।

World Bank के अनुसार भारत में होने वाली 80% बीमारियों की वजह पीने का पानी है। उनके सर्वे के अनुसार सिर्फ 15%-20% लोगो को ही सही पीने का पानी मिल पा रहा है। भारत के लिए एक कहावत मशहूर है – कोस-कोस पर बदले पानी, चार कोस पर वाणी। मतलब हर कोस पर आपको अलग पानी मिलेगा और अब ये पानी इतना दुषित हो रहा है कहीं का पानी पीने लायक है, कहीं के पानी से बीमारिया हो सकती है और कहीं का पानी इतना दुषित है कि कुछ सालो में उससे आपको कैंसर जैसी बीमारी हो सकती है। Continue reading

मेरे बाल क्यों गिर रहे हैं? (why is my hair falling out?)

hair fall and hair loss solution

बालो का गिरना (hair fall, hair loss) आज एक बहुत बड़ी समस्या बन गयी है। कभी एक उम्र के बाद ये समस्या होती थी आज छोटी उम्र वालो को भी बालो का गिरना और सफ़ेद होना जैसी समस्या होने लगी है। इसके कारण बहुत से है जैसे हार्मोन्स में बदलाव, तनाव(stress), कोई मेडिकल प्रॉब्लम, महिलाओ में गर्भावस्था के समय (in Pregnancy), प्रोटीन की कमी, आनुवंशिकता (genetic), आयरन की कमी(Anemia), खराब पोषण, विटामिन की कमी इत्यादि।

इस समस्या के चलते आज बालो से संबंधित प्रोडक्ट्स बनाने का बहुत बड़ा उद्योग खड़ा हो गया है। इस व्यवसाय को करने वाले जानते है कि अपने को युवा दिखने की चाहत और लोगो को अपने बालो से बहुत लगाव होता है और उनको गिरने से बचाने(hair loss) के लिए लोग कितने भी पैसे खर्च कर सकते है। इसलिए दिन प्रति दिन नए नए प्रोडक्ट्स ये बाजार में उतारते रहते है।
इन प्रोडक्ट्स को प्रयोग करने से पहले आपको ये समझना होगा कि अगर आपके शरीर में पोषण की कमी है या आप बहुत तनाव में रहते है या और भी शरीर की अंदरूनी समस्याओं है तो ये प्रोडक्ट्स आपकी कोई मदद नहीं करने वाले। Continue reading

अपने शरीर में से विषाक्त पदार्थो को कैसे निकाले – How to detox your body

how to detox your body

आज हम जितनी तेजी से नए युग की तरफ बढ़ रहे है अपने स्वास्थ्य को उतना ही हम पीछे छोड़ते जा रहे है। आज हमने कृषि/खेती-बाड़ी में फसलों को बढ़ाने और और उनको कीटाणु, रोगो से बचने के लिए बहुत कुछ बना लिया है जिन्हे हम रासायनिक खाद और कीटनाशक कहते है। किसान अपनी फसल से ज्यादा फायदा लेने के लिए इन सब का बहुत ज्यादा प्रयोग कर रहे है जिनसे ये सारे केमिकल्स इन खेतो में पैदा होने वाले खाने के पदार्थो में मिलकर हमारे शरीर में जा रहे है जिनसे हम नए नए रोगो की चपेट में आ रहे है। अब बिना रासायनिक खाद और कीटनाशक वाला खाना मिलना तो बहुत मुश्किल है ये तभी हो सकता जब आप अपने खाने वाली चीजे खुद ही उगाये जो हो नहीं सकता। कार्बनिक / जैविक जिसे अंग्रेजी में organic फ़ूड बोलते है को प्रयोग करके इनसे बच सकते है किन्तु वो सभी को नहीं मिल पता है और कम होने के कारण बहुत महँगा भी होता है।
अब इन केमिकल्स और विषाक्त पदार्थो से हम बच तो नहीं सकते है तो अब कुछ करना होगा जिससे हम अपने शरीर से विषाक्त पदार्थो बहार(detox) निकाल सकें। इसके लिए हम आपको आज कुछ बहुत ही आसान तरीके बताएँगे। Continue reading

क्या आपको पानी पीने का सही समय और तरीका पता है ? (Do you know right way and time to drink water?)

Right way and time of drink water

पानी(water) के बिना मनुष्य जीवन की कल्पना करना कठिन हैं। इसलिए कहा जाता है कि जल ही जीवन है। हमारे शरीर में 60-70% पानी होता है। इससे साबित होता है कि पानी तो सबको जीने के लिए पीना जरुरी है किंतु सही तरीके से और किसी समय पर पीना या नहीं पीना चाहिए इसके बारे में अगर आपको पता होगा तो ये आपको स्वस्थ रहने में आपकी बहुत मदद कर सकता है। हम कुछ नियम बता रहे है जिनको अगर आप अपनी दिनचर्या में शामिल कर ले तो यही पानी आपके शरीर को स्वस्थ भी रखेगा। Continue reading

क्या आपका नहाने का साबुन आप के लिए सही है ? (is your soap is right for you?)

is your soap is right for you?

साबुन (soap )हम सब की रोजमर्रा की जिन्दगी का एक मत्वपूर्ण हिस्सा है। बहुत कम लोग है जो साबुन का प्रयोग नहीं करते होंगे। इसलिए आपको ये मालुम होना जरुरी की आप की त्वचा के लिए कौन सा साबुन सही है। साबुन दो प्रकार के होते है एक टॉयलेट साबुन(Toilet Soap) और दूसरा बाथिंग साबुन(Bathing Bar)। अब आपका साबुन किस श्रेणी में आता है ये निर्भर करता है इस बात पर की  किस साबुन में कितना फैटी मटेरियल यानि वसायुक्त पदार्थ मिलाया गया है। जिसे TFM (Total Fatty Matter) कहते है। टॉयलेट साबुन में फैटी मटेरियल यानि वसायुक्त पदार्थ की मात्रा ज्यादा होती है और बाथिंग साबुन में इसकी मात्रा बहुत कम होती है इसमें surface active agents होते है। किस साबुन में कितना TFM की कितनी मात्रा है इससे उस साबुन को ग्रेड दिए जाते है। Continue reading

अपनी उत्पादकता कैसे बढ़ाए? (how to increase productivity?)

How to increase productivity

How to increase productivity

आज हर इंसान की जिंदगी में एक बड़ी परेशानी है समय की कमी। सभी को लगता है कि जितना समय उसको काम के लिए मिलता वह कम है और समय मिलना चाहिए था किन्तु समय तो सीमित है इसको बढ़ा नहीं सकते परन्तु उतने समय को सही तरीके से प्रयोग में लेकर अपनी काम की उत्पादकता बढ़ा सकतें है। Continue reading

टेस्टोस्टेरोन का स्तर प्राकृतिक तरीके से कैसे बढायें? (How to increase testosterone level naturally?)

Natural testosterone booster

Natural testosterone booster

टेस्टोस्टेरोन(testosterone) जिसे पुरूष हार्मोन या मेल हार्मोन बोलते है। यह पुरुषो में यौनक्रिया, प्रजनन सम्बन्धी कार्यों, आवाज का मोटा होना , मांसपेशीय का विकास, बालों की वृद्धि, प्रतिस्पर्धी व्यवहार और अन्य इसी प्रकार की कई चीज़ों से सम्बंधित होता है। सामान्य तौर पर उम्र बढ़ने के साथ टेस्टोस्टेरॉन के स्तर में गिरावट देखने को मिलती है। 20 से 35 वर्ष की आयु के बीच टेस्टोस्टेरोन का स्तर अपने शिखर पर होता है और इसके बाद धीरे-धीरे घटता जाता है। ये व्यक्ति-व्यक्ति पर निर्भर करता है कि उसका टेस्टोस्टेरोन का स्तर किस उम्र से कम होना शुरू हो जाए। आज कल तनाव, ज्यादा चिन्ता और काम के दबाव के कारण भी लोगो का टेस्टोस्टेरोन का स्तर नीचे होना शुरू हो गया है जिस उम्र में ये अपने चरम शिखर पर होना चाहिए उस उम्र में आज लोगो का टेस्टोस्टेरोन का स्तर बहुत कम पाया जा रहा है। Continue reading