सुखी जीवन जीने के रहस्य (The Secrets To Living A Happier Life)

happiness

सुखी व आनंदमय जीवन हर इंसान चाहता है शायद ही इस दुनियाँ में कोई इंसान हो जो दुखी रहना चाहता हो परन्तु हमारे जीवन में बहुत कुछ होता है जिन पर हमारा नियंत्रण नहीं होता और इसके कारण जीवन में दुःख या अशांति हो जाती है। सुखी जीवन जीने के रहस्यों की कोई एक किताब नहीं है कि उसको पढ़ लो और सीख लो। ये तो आपके ही नियंत्रण में है इसके लिए तो बस आपको अपनी दैनिक गतिविधियो और अपनी सोच में कुछ-कुछ बदलाव करने की जरुरत है।

सुख या खुशी (HAPPINESS) हासिल करने योग्य लक्ष्य नहीं है यह आपके द्वारा किए कार्यो से आपके मन को मिली संतुष्टि है आपके पास जितनी अधिक संतुष्टि होगी उतनी अधिक खुशी होगी उतना ही आप अपने जीवन में सुखी होंगे।

हर परिस्थितियों में भी खुश रहने वाले लोगो से उनके खुश रहने के राज को समझ कर मैंने अपने खुद के जीने और सोचने के तरीको में कुछ बदलाव किये और पाया कि कुछ तरीके है जिनको अगर आप अनुसरण करें तो आप भी अपने जीवन को ज्यादा से ज्यादा खुशी के साथ जी सकते है। Continue reading

क्या आप देश की मीडिया पर विश्वास कर सकते है ?(Can you trust the mainstream media?)

Indian Media Exposed by Cobrapost

अगर आपको पता करना है कि आपके आस-पास, आपके देश में, और दुनिया में क्या चल रहा है तो आपके पास इसका सबसे अच्छा माध्यम है मीडिया (Mainstream Media)। जैसे अखबार, मैगजीन्स, रेडियो, टेलेविज़न और इंटरनेट। मीडिया(media) हमारे जीवन को बहुत प्रभावित करता है क्योंकि मीडिया में हमारे विचारों को प्रभावित करने की शक्ति है। मीडिया आम आदमी की आवाज का भी काम करता है ये हमारे अधिकारों की रक्षा के लिए आवाज उठाते है। मीडिया न्यायपालिका, कार्यकारी और विधायिका के साथ लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के रूप में काम करता है। ये सरकार को सही से शासन करने के लिए, बुरे लोगो को दुनिया के सामने लाने, समाज में हो रहे अच्छा-बुरा बदलावों का साथ ही साथ हमें कई तरीको से शिक्षित करने का काम करता है। इसलिए हम मीडिया(media) पर बहुत विश्वास करते है। पर अगर आपको पता चलें कि बड़े बड़े मीडिया-हाउस पैसे लेकर लोगो के इस विश्वास के साथ खिलवाड़ करते है जो वो दिखाते या लिखते है जरुरी नहीं वो सब सच हो वो पैसे लेकर बनाई गयी झूठा खबर है ये पैसे लेकर उसको तोड़-मोड़ दिया गया है तो आपको कैसा लगेगा ?
Continue reading

क्या आर ओ (RO)और बोतलबंद पानी सेहत के लिए सही है ? (Is bottled Water and RO Purified Water good for health?)

Is bottled Water and RO Purified Water good for health

जल ही जीवन है- जल के बिना जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है पर आज इसमें एक नयी थ्योरी जुड़ गयी है कि पीने वाला पानी पीने लायक है भी या नहीं। औद्योगिक क्रांति से हमने बहुत तरक्की की है लेकिन इसके चलते हमने बहुत कुछ ऐसा बनाया है जिसने हमारे भूजल को दुषित कर दिया है। पहले भारत में लोग नदियों का पानी इस्तेमाल में लेते थे और आज भूजल को भी प्रयोग में लेने से डरते है। जाने कैसे-कैसे रसायन, दुषित पदार्थ पानी में मिल गए है कि उस पानी को पीने से रोग लग रहे है।

World Bank के अनुसार भारत में होने वाली 80% बीमारियों की वजह पीने का पानी है। उनके सर्वे के अनुसार सिर्फ 15%-20% लोगो को ही सही पीने का पानी मिल पा रहा है। भारत के लिए एक कहावत मशहूर है – कोस-कोस पर बदले पानी, चार कोस पर वाणी। मतलब हर कोस पर आपको अलग पानी मिलेगा और अब ये पानी इतना दुषित हो रहा है कहीं का पानी पीने लायक है, कहीं के पानी से बीमारिया हो सकती है और कहीं का पानी इतना दुषित है कि कुछ सालो में उससे आपको कैंसर जैसी बीमारी हो सकती है। Continue reading

आवश्यक सप्लीमेंट्स जो मसल्स बनाने के लिए लेने चाहिए – Top Essential Supplements For Muscle Gain

supplements

आज जितना तेजी से लोगो का रुझान फिटनेस की तरफ हो रहा है उतनी तेजी से सप्लीमेंट्स (Supplements) का प्रयोग भी बढ़ रहा है। लोग इतना ध्यान अपने खाने पर नहीं दे रहें जितना सप्लीमेंट्स पर दे रहे है सबको लगता है कि बिना सप्लीमेंट्स वो अपने फिटनेस के लक्ष्य को नहीं पा सकते है जो की गलत है। अगर आप अपने रोज के खाने पर थोड़ा ध्यान दे और वहां से अपनी प्रतिदिन की पोषण की जरुरत पूरी करे तो इसका कोई विकल्प हो ही नहीं सकता।
अब इसका एक दूसरा पहलू भी है। वो ये की जो खाना हम खा रहे है उनमें सारे पोषण तत्त्व है भी या नहीं। मुख्य रूप से भारत जैसे देश में जहाँ आज एक अच्छा पौष्टिक आहार मिलना बहुत मुश्किल हो रहा है। फसलों की उत्पादकता बढ़ाने के लिए यहाँ बहुत अधिक मात्रा में कीटनाशक और रासायनिक खादों का प्रयोग किया जा रहा जिसे खाने के पोषक तत्व कम हो रहे है और उनकी गुणवत्ता भी बहुत कम हो रही है। इनको खाने पर हमारा पाचन तंत्र इन्हे सही से पचा भी नहीं पता तो हमे इनसे पोषक तत्व भी पूरी तरह से नहीं मिल पाते है। अब यहां ये जरुरी हो जाता है कि हम अपने खाने के साथ साथ कुछ सप्लीमेंट्स भी लेना शुरू करे जिसे हमारे शरीर की प्रतिदिन की पोषण की जरुरत पूरी हो जाए। यहाँ पर शाकाहारी लोगो की लिए अपने भोजन से पुरे पोषक तत्व लेना मुश्किल होता है मुख्य रूप से प्रोटीन, तो उनके लिए भी सप्लीमेंट्स (Supplements) का प्रयोग कुछ हद तक जरुरी हो जाता है। Continue reading

क्या ज्यादा पसीना आने से मोटापा जल्दी कम होता है ? (Does Excessive Sweating Make You Lose Fat Fast?)

sweating and weight lose

जितना ज्यादा पसीना (excessive sweating) आएगा उतना ज्यादा फैट कम होगा, ज्यादा पसीना निकलेगा तो जल्दी वजन कम होगा, ज्यादा पसीना आना मतलब ज्यादा कैलोरी जलाना – ये सब बातें या धरणाये सब गलत है। पसीने(sweating) का और चर्बी कम (fat loss) या वजन कम होने का आपस में कोई संबंध नहीं है। Continue reading

दिल्ली से स्पीति वैली टूर मारुती स्विफ्ट कार से (Delhi to Spiti valley tour by Maruti Swift)

Spiti Valley Tour guide in hindi

Delhi to Spiti valley tour guide

घूमना-फिरना किसे पसंद नहीं है और अगर आपका ये घूमना ऐसी जगह का हो जो बहुत ही सुन्दर,अद्भुत, अकल्पनीय, हिमखंडों से घिरी, आसमान छूते शैल-शिखरो से भरी और साहस से भरी हो तो कोई क्यों नहीं जाना चाहेगा।मैं और मेरे दोस्तों का ग्रुप हमेशा ऐसी जगहों पर जाना पसंद करता है जो कुछ अलग हो। ऐसी जगहों के बारे में में आपको ज्ञानलोक की इस घुमक्कड़ शृंखला में बताऊंगा।

मैं जिस टूर की बात करूँगा वो टूर है स्पीति वैली ( Spiti valley) का जहाँ हम अपनी स्विफ्ट कार से गए थे। ये टूर 7 दिन का था। हम बृहस्पतिवार (30 जून 2016) को निकले थे और बृहस्पतिवार (7 जुलाई 2016) को ही वापिस घर पहुंचे। ये सात दिन का टूर हमारे अब तक के सभी टूर से सबसे ज्यादा यादगार रहा। इसके बहुत बड़ी वजह स्पीति वैली ( Spiti valley) का अद्भुत नजारा है। यहाँ के रास्ते हैं। किन्नौर, स्पीति, लाहौल, कुुंजुम दर्रें (kunzum pass) जैसी घाटियों का सफर उत्तेजना और रोमांच से भर देता है। कुछ लोग लद्दाख के रास्तो को सबसे रोमांचक और कठिन मानते है वो इसलिए क्योकि वो लाहौल-स्पीति कभी गए ही नहीं। जिनको नहीं घूमने का शोक है वो एक बार लाहौल-स्पीति का टूर जरूर करें। इससे लाहौल-स्पीति(Spiti) इसलिए बोला जाता है लाहौल और स्पीति एक दूसरे से सटी अलग-अलग घाटियों के नाम हैं लेकिन प्रकृति की विविधताओं को बावजूद इनकी धार्मिक, सांस्कृतिक और ऐतिहासिक पृष्ठभूमि काफी हद तक समान है। आपके लिए ये जीवनकाल का एक अद्भुत और असाधारण अनुभव होगा। Continue reading

मेरे बाल क्यों गिर रहे हैं? (why is my hair falling out?)

hair fall and hair loss solution

बालो का गिरना (hair fall, hair loss) आज एक बहुत बड़ी समस्या बन गयी है। कभी एक उम्र के बाद ये समस्या होती थी आज छोटी उम्र वालो को भी बालो का गिरना और सफ़ेद होना जैसी समस्या होने लगी है। इसके कारण बहुत से है जैसे हार्मोन्स में बदलाव, तनाव(stress), कोई मेडिकल प्रॉब्लम, महिलाओ में गर्भावस्था के समय (in Pregnancy), प्रोटीन की कमी, आनुवंशिकता (genetic), आयरन की कमी(Anemia), खराब पोषण, विटामिन की कमी इत्यादि।

इस समस्या के चलते आज बालो से संबंधित प्रोडक्ट्स बनाने का बहुत बड़ा उद्योग खड़ा हो गया है। इस व्यवसाय को करने वाले जानते है कि अपने को युवा दिखने की चाहत और लोगो को अपने बालो से बहुत लगाव होता है और उनको गिरने से बचाने(hair loss) के लिए लोग कितने भी पैसे खर्च कर सकते है। इसलिए दिन प्रति दिन नए नए प्रोडक्ट्स ये बाजार में उतारते रहते है।
इन प्रोडक्ट्स को प्रयोग करने से पहले आपको ये समझना होगा कि अगर आपके शरीर में पोषण की कमी है या आप बहुत तनाव में रहते है या और भी शरीर की अंदरूनी समस्याओं है तो ये प्रोडक्ट्स आपकी कोई मदद नहीं करने वाले। Continue reading

अपने शरीर में से विषाक्त पदार्थो को कैसे निकाले – How to detox your body

how to detox your body

आज हम जितनी तेजी से नए युग की तरफ बढ़ रहे है अपने स्वास्थ्य को उतना ही हम पीछे छोड़ते जा रहे है। आज हमने कृषि/खेती-बाड़ी में फसलों को बढ़ाने और और उनको कीटाणु, रोगो से बचने के लिए बहुत कुछ बना लिया है जिन्हे हम रासायनिक खाद और कीटनाशक कहते है। किसान अपनी फसल से ज्यादा फायदा लेने के लिए इन सब का बहुत ज्यादा प्रयोग कर रहे है जिनसे ये सारे केमिकल्स इन खेतो में पैदा होने वाले खाने के पदार्थो में मिलकर हमारे शरीर में जा रहे है जिनसे हम नए नए रोगो की चपेट में आ रहे है। अब बिना रासायनिक खाद और कीटनाशक वाला खाना मिलना तो बहुत मुश्किल है ये तभी हो सकता जब आप अपने खाने वाली चीजे खुद ही उगाये जो हो नहीं सकता। कार्बनिक / जैविक जिसे अंग्रेजी में organic फ़ूड बोलते है को प्रयोग करके इनसे बच सकते है किन्तु वो सभी को नहीं मिल पता है और कम होने के कारण बहुत महँगा भी होता है।
अब इन केमिकल्स और विषाक्त पदार्थो से हम बच तो नहीं सकते है तो अब कुछ करना होगा जिससे हम अपने शरीर से विषाक्त पदार्थो बहार(detox) निकाल सकें। इसके लिए हम आपको आज कुछ बहुत ही आसान तरीके बताएँगे। Continue reading

8 सबक जो मैंने अपनी पहली स्टार्टअप से सीखें – 8 Lessons I Learn from My First Startup

8 lessons from my startup

एक हमारा समय था जब हम पढ़ते तो हमारा फोकस एक अच्छी नौकरी पाने का था। अगर कोई व्यावसायिक पृष्ठभूमि मतलब जिसका परिवार ही बिज़नस करता हो अगर उसको छोड़ दिया जाए तो बहुत कम बच्चे होते थे जो अपना व्यवसाय(Startup) करने की सोचते  थे । एक आज का समय है पढ़ाई पूरी करते ही या पूरी ना भी करे आज के युवा नौकरी में कम अपने काम यानि अपना व्यवसाय करने की सोचते है। आज का युवा बिज़नेस के लिए काफी ऊर्जावान और उत्तेजित हैं और हो भी क्यों ना आज भारत में नई पीढ़ी के व्यापारी के लिए बहुत संभावनाएं है।

इसके बावजुद भी नयी स्टार्टअप्स(Startup) का सफल होने का अनुपात ये है कि 10% स्टार्टअप्स ही सफल हो पाते है 90% स्टार्टअप्स कुछ ही महीनो या साल में असफल हो जाते है और बिज़नस छोड़ देते है। इसके पीछे बहुत से कारण हो सकते है आपके बिज़नस को असफल होने का कारण जरुरी नहीं के ये हो कि आप अपना प्रोडक्ट या सर्विसेज बेच न पाए बल्कि इसके अलावा भी बहुत से कारण है जिन पर आप बिज़नेस शुरू करने से पहले विचार नहीं करते है या ये कहे कि उनके लिए तैयार ही नहीं होते है और जब ये सब समस्या आती है तो पहले से इनके बारे में तैयार ना होने के कारण आपका काम आपका व्यापार बिगड़ जाता है और और आपका स्टार्टअप(Startup) ब्रेक हो जाता है।
मैं भी आज एक छोटी सी आईटी कम्पनी चलाता हूँ। मैंने पहले 11 साल जॉब की और उसके बाद यह कंपनी शुरू की और इस स्टार्टअप को चलते हुए मैंने कुछ सबक सीखें जो आज में आपसे शेयर करना चाहूंगा। Continue reading

क्या आपको पानी पीने का सही समय और तरीका पता है ? (Do you know right way and time to drink water?)

Right way and time of drink water

पानी(water) के बिना मनुष्य जीवन की कल्पना करना कठिन हैं। इसलिए कहा जाता है कि जल ही जीवन है। हमारे शरीर में 60-70% पानी होता है। इससे साबित होता है कि पानी तो सबको जीने के लिए पीना जरुरी है किंतु सही तरीके से और किसी समय पर पीना या नहीं पीना चाहिए इसके बारे में अगर आपको पता होगा तो ये आपको स्वस्थ रहने में आपकी बहुत मदद कर सकता है। हम कुछ नियम बता रहे है जिनको अगर आप अपनी दिनचर्या में शामिल कर ले तो यही पानी आपके शरीर को स्वस्थ भी रखेगा। Continue reading