जिन्दगी भर निरोगी रहना है तो अपने साँस लेने का तरीका बदलो (If You want to live a healthy life, then change the way you breathe)

Breathe

क्या कभी अपने सोचा होगा कि सिर्फ साँस लेने (the way you breathe) के तरीके को बदल कर आप अपनी लाइफ को हेल्थी लाइफ बना सकते है। प्रकर्ति ने हमारे शरीर को बीमारियों से बचाने या बीमार होने के बाद सही होने के लिए बहुत सी व्यवस्था दी है। साँस लेना (Breathing) उनमें से एक हैं।

परन्तु आज की भाग दौड़ की जिन्दगी में हम अपनी शरीर की इस प्रकिर्या को भी नज़रअंदाज़ किया हुआ है जिसके चलते हमारे साँस लेने की गति बहुत धीमी हो गयी है । हमें लगता है कि ये तो अपने आप चलने वाली क्रिया है इस पर क्या ध्यान देना लेकिन ये सोचना बिलकुल गलत है।

साँस लेने की एक बुनियादि क्रिया सभी को पता है कि जब हम साँस लेते है तो हम ऑक्सीजन (oxygen) लेते हैं और कार्बन डाइऑक्साइड बाहर निकालते हैं और ऑक्सीजन(O2) को प्राण वायु (Life Air) कहा जाता है। परन्तु आज जिस गति से हम लोग सॉस लेते है उसमें बहुत कम ऑक्सीजन हमारे शरीर में जा पाती है। और जाने अनजाने में हम बहुत से रोगो को अपने शरीर में पैदा कर लेते है।

आपने कभी गौर किया है कि जब कभी आप परेशान या तनावग्रस्त होते है या कभी आप क्रोधित या डरे हुए होते हैं तो आपको गहरी साँस लेने के लिए बोला जाता है। मैडिटेशन (meditation) में भी साँस पर फोकस करने को बोला जाता है। इन सब के पीछे वजह क्या है ? वजह है ज्यादा से ज्यादा ऑक्सीजन का शरीर में जाना ज्यादा देर तक रुकना जिस से हमारा शरीर खुद को ठीक कर सकें।

ये ऑक्सीजन (oxygen) खून में मिलती है और खून शरीर के सभी हिस्सों में मौजूद हर कोशिका तक ऑक्सीजन पहुंचाता है, जिससे वे स्वस्थ रह पाती हैं। जब हमारे शरीर में  ऑक्सीजन की कमी हो जाती है तो मेडिकल की भाषा में इसको हाइपोक्सेमिया होना कहा जाता है।

अब अगर इस कमी के चलते होने वाली बीमारियों की बात करें तो बहुत बड़ी सूची बन जाएगी कुछ सामान्य बीमारियाँ है जैसे फेफड़ों संबंधी विभिन्न समस्याओं जैसे, लंग कैंसर, निमोनिया, अस्थमा आदि। इसके अलावा हृदय संबंधी समस्याएं जैसे ब्लड प्रेशर , स्किन से संबंधित बीमारियां, दिमाग की बीमारी, और इन सबसे ऊपर कैंसर जैसी बीमारियाँ हो जाती है।

अब इन सबसे बचने के लिए करना क्या है अपनी साँस (breathe) लेने की किर्या पर ध्यान देना हैं लम्बी सांसे लेनी है धीरे-धीरे आपकी यही किर्या नार्मल साँस लेने का तरीका बन जाएगा। आप कुछ अलग-अलग योग किर्यो की मदद से शुरू कर सकते हैं। मै कुछ योगके वीडियो शेयर कर रहा हूँ इन्हे देखें और सीखें।

आशा करता हूँ मेरा ये लेख पढ़कर और इन तरीको से आप अपने साँस (breathe) लेने के तरीके को सही करेंगे और भविष्य में बीमारियों से बचे रहेंगे।

अगर आपको मेरा ये लेख – “जिन्दगी भर निरोगी रहना है तो अपने साँस लेने का तरीका बदलो (If You want to live a healthy life, then change the way you breathe)” पसंद आया हो तो अपनी प्रतिक्रिया(comments) जरूर लिखें।

Leave a Comment.