आपकी मानसिकता आपकी असफलताओं का कारण है(Your mindset is the reason for your failures?)

is your mindset is the reason for your failures

“A man cannot directly choose his circumstances, but he can choose his thoughts, and so indirectly, yet surely, shape his circumstances.”
― James Allen

अगर आप अपने चारों तरफ देखें तो हर कोई जिंदगी में कुछ न कुछ पाने के लिए कठोर परिश्रम कर रहा है। परन्तु कुछ लोग कामयाब हो जाते है कुछ नहीं। अगर हम कामयाब ना होने के कारणों में भाग्य (luck) की बात न करें तो एक कारण ओर है जिसकी वजह से आप हार जाते है। और वो है आपका दिमाग, आपकी सोच(Thinking), आपकी मानसिकता(Mindset)। आज मैं आपको कुछ बातें बताऊंगा जिनकी वजह से लोग जल्दी से हार मान जाते है और आपने लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर पाते है। Continue reading

दिलचस्प मनोवैज्ञानिक तथ्य जिन्हे जान कर आप हो जायेंगे और भी बुद्धिमान

Psychological facts

हमारा दिमाग कैसे काम करता है इस रहस्य को जितना जानो उतना ही कम लगता है। शोध-कर्ताओं ने इस विषय पर बहुत शोध की है और बहुत से रोचक व दिलचस्प मनोवैज्ञानिक तथ्य (Psychological facts)सामने आये जिन्हे जान कर आप अपने को और भी बुद्धिमान बना सकते है। अगर ये सभी तथ्य आपको पता हो तो आप जान सकते है कि सामने वाले का जो व्यवहार है या उसके दिल और दिमाग में क्या चल रहा है। Continue reading

कुछ महत्वपूर्ण बातें जो मैंने नौकरी छोड़ने के बाद सीखी (Most Important things I learned Since I left my Perfect Job)

things I learned Since I left my Perfect Job

जिस पेशे को आप कर रहे है उसमें आपको सफलता ही मिलेगी इस बात क़ी कोई गारंटी नहीं है। दुसरे शब्दों में कहें तो सफल करियर के लिए कोई फार्मूला नहीं है। हो सकता है आपकी सबसे सुरक्षित और एक अच्छी कंपनी की नौकरी आर्थिक संकट या बाजार में मंदी होने के दौरान छूट जाए। ग़ैर-सरकारी कंपनी में नौकरी का सुरक्षित होना एक भ्रम है। जिस कंपनी से मैंने नौकरी छोड़ी थी उसमें से एक नयी कंपनी बनी थी और कुछ स्टाफ को नयी कंपनी में लिया गया था। दो-तीन साल तक कर्मचारियों की अच्छी सैलरी बढ़ी तथा कंपनी को अच्छा पूंजी निवेश भी मिला था। लेकिन बिज़नेस में बहुत लाभ न मिलने के कारण अब वो कंपनी बंद हो रही है और उसमें काम करने वाले कर्मचारियों को जाने के लिए बोल दिया गया है।

नौकरी का सुरक्षित होना कंपनी में आपके अच्छे प्रदर्शन, आपकी रेटिंग या आपकी कंपनी कितनी बड़ी है, इन सब पर निर्भर नहीं है ये आपके अपने कौशल (skills) पर निर्भर है। आप उस व्यवसाय में ज़रूरत के अनुसार अपने कौशल को अपडेट करते रहेंगे तो आप सुरक्षित नौकरी कर सकते है क्योकि अब आप कंपनी पर निर्भर नहीं है आप के पास वो कौशल है कि आप कभी भी किसी भी कंपनी से नौकरी छोड़कर दूसरी कंपनी में जा सकते है। Continue reading

8 सबक जो मैंने अपनी पहली स्टार्टअप से सीखें – 8 Lessons I Learn from My First Startup

8 lessons from my startup

एक हमारा समय था जब हम पढ़ते तो हमारा फोकस एक अच्छी नौकरी पाने का था। अगर कोई व्यावसायिक पृष्ठभूमि मतलब जिसका परिवार ही बिज़नस करता हो अगर उसको छोड़ दिया जाए तो बहुत कम बच्चे होते थे जो अपना व्यवसाय(Startup) करने की सोचते  थे । एक आज का समय है पढ़ाई पूरी करते ही या पूरी ना भी करे आज के युवा नौकरी में कम अपने काम यानि अपना व्यवसाय करने की सोचते है। आज का युवा बिज़नेस के लिए काफी ऊर्जावान और उत्तेजित हैं और हो भी क्यों ना आज भारत में नई पीढ़ी के व्यापारी के लिए बहुत संभावनाएं है।

इसके बावजुद भी नयी स्टार्टअप्स(Startup) का सफल होने का अनुपात ये है कि 10% स्टार्टअप्स ही सफल हो पाते है 90% स्टार्टअप्स कुछ ही महीनो या साल में असफल हो जाते है और बिज़नस छोड़ देते है। इसके पीछे बहुत से कारण हो सकते है आपके बिज़नस को असफल होने का कारण जरुरी नहीं के ये हो कि आप अपना प्रोडक्ट या सर्विसेज बेच न पाए बल्कि इसके अलावा भी बहुत से कारण है जिन पर आप बिज़नेस शुरू करने से पहले विचार नहीं करते है या ये कहे कि उनके लिए तैयार ही नहीं होते है और जब ये सब समस्या आती है तो पहले से इनके बारे में तैयार ना होने के कारण आपका काम आपका व्यापार बिगड़ जाता है और और आपका स्टार्टअप(Startup) ब्रेक हो जाता है।
मैं भी आज एक छोटी सी आईटी कम्पनी चलाता हूँ। मैंने पहले 11 साल जॉब की और उसके बाद यह कंपनी शुरू की और इस स्टार्टअप को चलते हुए मैंने कुछ सबक सीखें जो आज में आपसे शेयर करना चाहूंगा। Continue reading

क्या आपका नहाने का साबुन आप के लिए सही है ? (is your soap is right for you?)

is your soap is right for you?

साबुन (soap )हम सब की रोजमर्रा की जिन्दगी का एक मत्वपूर्ण हिस्सा है। बहुत कम लोग है जो साबुन का प्रयोग नहीं करते होंगे। इसलिए आपको ये मालुम होना जरुरी की आप की त्वचा के लिए कौन सा साबुन सही है। साबुन दो प्रकार के होते है एक टॉयलेट साबुन(Toilet Soap) और दूसरा बाथिंग साबुन(Bathing Bar)। अब आपका साबुन किस श्रेणी में आता है ये निर्भर करता है इस बात पर की  किस साबुन में कितना फैटी मटेरियल यानि वसायुक्त पदार्थ मिलाया गया है। जिसे TFM (Total Fatty Matter) कहते है। टॉयलेट साबुन में फैटी मटेरियल यानि वसायुक्त पदार्थ की मात्रा ज्यादा होती है और बाथिंग साबुन में इसकी मात्रा बहुत कम होती है इसमें surface active agents होते है। किस साबुन में कितना TFM की कितनी मात्रा है इससे उस साबुन को ग्रेड दिए जाते है। Continue reading

अपनी उत्पादकता कैसे बढ़ाए? (how to increase productivity?)

How to increase productivity

How to increase productivity

आज हर इंसान की जिंदगी में एक बड़ी परेशानी है समय की कमी। सभी को लगता है कि जितना समय उसको काम के लिए मिलता वह कम है और समय मिलना चाहिए था किन्तु समय तो सीमित है इसको बढ़ा नहीं सकते परन्तु उतने समय को सही तरीके से प्रयोग में लेकर अपनी काम की उत्पादकता बढ़ा सकतें है। Continue reading

51 वेबसाइट्स जहाँ से आप कुछ नया सीख सकतें हैं – (51 websites to learn something new)

Learning websites

इंटरनेट ने आज दुनिया को समेट कर रख दिया हैं। अब किसी भी देश का इंसान अपने घर पर ही किसी भी देश के बारे में जान या पढ़ सकता है वहाँ पढ़ाई जाने वाली किसी भी शिक्षा को वो अपने घर पर ही इन्टरनेट की मदद से सीख सकता हैं। ऑनलाइन लार्निंग (Learning online) यानी ऑनलाइन सीखने या इन्टरनेट की मदद से पढ़ने की अवधारणा (e-learning concept) ने ये आसान बना दिया हैं।
आज बहुत सी वेबसाइट्स है जहाँ से आप मुफ्त में या बहुत कम पैसे दे कर अपने ज्ञान और कौशल को बढ़ा सकते है। ये अनुमान लगाया जा रहा है कि आने वाले समय में पारंपरिक स्कूलों, कॉलेज और विश्वविद्यालय की जगह ये ऑनलाइन वेबसाइट्स पर ज्यादा लोग पढ़ाई करेंगे। क्योंकि इसके लिए आपको अपने शहर, देश को छोड़ कर कही और जाना नहीं पड़ता आप सब अपने ही घर या पास के एजुकेशन सेंटर पर ही कर सकते हैं। इससे समय और पैसे दोनों की बचत होती है और आपके सीखने की सीमा अपार (unlimited) हो जाती है। ऐसी ही कुछ वेबसाइट्स(learning websites) के बारे में हम आज आपको बताएँगे। आप जरूर इस लेख को अपनी बुकमार्क लिस्ट में शामिल करना चाहेंगे। Continue reading