खाना पकाने के तेल के स्मोक पॉइंट का क्या अर्थ है और यह क्यों महत्वपूर्ण है (What is the meaning of smoke point of cooking oil and why it’s important?)

जब आप खाना पकाने के तेल को खरीदते है तो इस तरह के बहुत से सवाल आपके दिमाग में आते होंगे जैसे :

  • खाना पकाने के तेल का स्मोक पॉइंट (smoke point) का क्या मतलब होता है?
  • कौन सा तेल सही है?
  • क्या आपका खाने का तेल आपके लिए सही है?
  • तेल को एक बार प्रयोग करने के बाद बचा हुआ तेल फिर से प्रयोग करना चाहिए या नहीं ?
  • रिफाइंड तेल खाना पकाने के लिए सही है या नहीं?

Continue reading

क्या आपका नमक आपके लिए सही है ? (Is your cooking salt is right for you?)

is your cooking salt is right for you

नमक (salt) हमारे खाने का एक मुख्य घटक है और हमारे शरीर के लिए भी ये एक बहुत जरुरी तत्व है। नमक की हमारे शरीर को क्यों जरुरत है ये लगभग सभी को पता है तो समझने की बात ये नहीं है कि नमक की जरुरत क्या है समझने की बात ये है कि क्या आपका नमक जो आप अभी प्रयोग करते है आपके लिए सही है? अगर हम बात करे कि कितनी तरह के नमक है तो नमक में भी लगभग 10 से 12 प्रकार है। किन्तु हम सिर्फ उन नमक के बारे में बताएँगे जो हमारे देश में सामान्यतः इस्तेमाल में लिए जाते है और जो आसानी से बाजार में मिल जाते है।
मेरा इस लेख़ का लिखने का मुख्य उद्देश्य हमारे घरो में सबसे ज्यादा प्रयोग में आने वाले नमक के बारे में आपको बताना है। आपको पता होना चाहिए कि हम जाने अनजाने में क्या गलती कर रहे है। Continue reading

जड़ी बूटी जो आपको कैंसर और सूजन से बचाता है।(Herb that protects you from cancer and inflammation.)

All About Turmeric

Knowledge about herb – Turmeric (root), curcuma, Yellow Root or Haldi

जड़ी बूटी के बारे में ज्ञान की शृंखला में आज हम आपको हल्दी (Turmeric) के बारे में बताएँगे। ये एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट जड़ी बूटी है जो भारत में हर घर की रसोई में मसाले के रूप में मिल जाती है। हिन्दुस्तान के हर घर की रसोई में बहुत सी औषधि पायी जाती है जो जाने-अनजाने में खाने में प्रयोग होती है और सभी को स्वस्थ रखती है। इन सबके बारे में हम आपको अपने आने वाले लेखों में बताएँगे।

हल्दी Zingiberaceae फैमिली से है अदरक भी इसी फैमिली है। ये एशियाई देशों में हजारों सालो से प्रयोग की जा रही है। हल्दी का पौधा भारत का मूल निवासी है और इस पौधे की कंद रुपी जड़ों को ही ताजा या सुखा के पाउडर के रूप इस्तेमाल होता है। पहले इसका प्रयोग रंगों की तरह किया जाता था फिर इसका प्रयोग औषधीय एवं मसालो के रूप में भी किया जाने लगा। इसे इंग्लिश में Turmeric के नाम से जाना जाता है ग्रंथों में इसे हल्दी के अतिरिक्त हरिद्रा, कुरकुमा लौंगा, वरवर्णिनी, गौरी, क्रिमिघ्ना योशितप्रीया, हट्टविलासनी, हरदल, कुमकुम नाम दिए गए हैं। Continue reading

जड़ी बूटी के बारे में ज्ञान -तुलसी (Knowledge about herb – Tulsi)

Tusli

Knowledge about herb – Tulsi
आज से हम एक नयी शृंखला शुरू कर रहे है जिसका नाम है जड़ी बूटी के बारे में ज्ञान! इसमें हम आपको हर तरह की जड़ी बूटी के औषधीय गुणों के बारे में विस्तार से बतायंगे। हमारे देश में बहुत सी जड़ी बूटी पैदा होती है जो एक से बढ़कर एक गुणों से भरी हुई है किंतु इनके बारे में सही जानकारी ना होने के कारण हम इनसे किसी तरह का भी फायदा नहीं ले पाते है। ज्ञानलोक में हमारी ये कोशिश रहेगी कि आपको सरल भाषा में इनकी जानकरी दे पाए जिनसे आप इनका प्रयोग करके अपने स्वस्थ्य को सही कर सकें।

इस शृंखला की शुरूवात हम एक ऐसी जड़ी बूटी से करेंगे उसका नाम है तुलसी (basil leaves) इसको सबसे पवित्र और सबसे गुणकारी माना जाता है। हिन्दू धर्म में तो इसका विशेष महत्व है। इसके बिना कोई भी धर्म, पूजा पाठ का कार्य पूर्ण नहीं होता। हिन्दू धर्म में तो ये माना जाता है कि जिस घर में तुलसी लगाई जाती है उस घर में भगवान वास करते हैं। इसके गुणों के कारण इसे पूजनीय मानकर देवी का दर्जा दिया जाता है। ऐसा माना जाता है कि जिस घर में तुलसी का पौधा होता है उस घर में किसी भी तरह नकारात्मक प्रभाव नहीं होते है। Continue reading

स्वास्थ्य दोहावली – Health Dohawali

पानी में गुड डालिए,
बीत जाए जब रात!
सुबह छानकर पीजिए,
अच्छे हों हालात!!

धनिया की पत्ती मसल,
बूंद नैन में डार!
दुखती अँखियां ठीक हों,
पल लागे दो-चार!!

Continue reading

प्राचीन आयुर्वेदा के अनुसार हमारा शरीर कितने प्रकार का होता है।

आज हम ये बतायेगे के हमारा शरीर (Human Body) आयुर्वेद(Ayurveda) के सिद्धांत के अनुसार कितने प्रकार का होता है। आयुर्वेद में मानव शरीर (Human body)की रचना का अध्यन उसके सारतत्व के आधार पर किया जाता हैं। आयुर्वेद के अनुसार मानव शरीर में निम्नलिखित की उपस्थिति होती है । Continue reading